What cause of Irregular Menstruation and solution in Hindi?
  1. Irregular Menstruation हमेशा किसी समस्या का संकेत नही होता है लेकिन कभी-कभी इस मामले में डॉक्टर से परामर्श लेना आपके लिए अच्छा विचार हो सकता है |

प्रत्येक महिलाओं को हर 24 से 38 दिनों में periods होता है आमतौर पर यह menstruation 2 से 8 दिन तक चलता है | अगर आपको अपने इन अवधियों में बदलाव नज़र आता है तो आपको irregular menstruation की समस्या हो सकती है |

read also :

अनियमित मासिक धर्म  क्या है ? ( What is Irregular menstruation?)

  • अगर आपको irregular menstruation की समस्या है तो आपके मासिक धर्म चक्र में परिवर्तन होता रहता है |
  • औसतन मासिक धर्म चक्र 28 दिन का होता है लेकिन  थोडा लम्बा और छोटा होना सामान्य स्थिति कहलाता है |
  • मासिक धर्म जल्दी या देरी से हो सकता है |
  • सामान्य से अधिक अवधि के दौरान कम या अधिक blood खो देते हैं |
  • आपके periods के दिनों की संख्या अलग-अलग हो सकती है |

अनियमित मासिक धर्म के कारण ( Cause of Irregular menstruation)

Irregular menstruation के कई कारण हो सकते हैं | शरीर में पाए जाने वाले estrogen और progesterone हॉर्मोन के level में परिवर्तन regular पीरियड को प्रभावित कर सकते हैं | यही कारण है कि young girl और ऐसी women जो menopause के करीब है उन्हें irregular periods की समस्या हो सकती है |

इसके अलावा irregular menstruation के और भी संभावित कारण हो सकते हैं जो इस प्रकार है –

1. Polycystic overy syndrome

यह  hormonal disorder है जो लाखो महिलाओं को प्रभावित करता है अगर किसी महिला को PCOS है तो उसके ovaries में problem create हो सकता है इससे irregular period या कोई period नही हो सकता | PCOS बांझपन का एक आम कारण भी है लेकिन इसका इलाज किया जा सकता है |

2.तनाव( Stress)

stress anovulation का कारण हो सकता है जिसमे body प्रत्येक महीने egg release नही करती | एक रिसर्च में पाया गया है कि ऐसी महिलायें जिन्हें irregular menstruation की समस्या थी वे ज़्यादातर तनाव से पीड़ित थी | और इसका मुख्य कारण यह है कि जब शरीर सामान्य से अधिक cortisol को produce करता है तो यह sex hormone के balance में interfere कर सकता है जो ovulation को regulate करने के ज़िम्मेदार होते हैं |

3. बहुत अधिक वज़न बढ़ना या घटना (Gaining or losing weight)

अचानक वज़न  बढ़ने से pituitary gland प्रभावित होता है जिससे hormonal imbalance की समस्या होती है जिससे ovulate होने के लिए body की क्षमता कम हो सकती है लेकिन अपने स्वस्थ वज़न में वापिस आकर इस समस्या से निजात प् सकते हैं |

4. गर्भ निरोधक गोलियां ( Birth control pills)

birth control pill ovulation को रोकने के लिए estrogen और progesterone के संयोजन का उपयोग करती है | गर्भ निरोधक गोलियां शरीर को कुछ दिनों तक अनियमित बना सकता है क्योंकि आपका शरीर अपने नए निर्देशित चक्र के अनुसार adjust होता है | इसके अलावा कई गर्भ निरोधक दवाई में estrogen की बहुत कम सामग्री होती है | जो अनियमित रक्तस्त्राव का कारण बन सकता है |

5. थायरोइड की बिमारी ( Thyroid disease)

अगर period अधिक frequent और हल्का हो जाता है तो यह thyriod का संकेत हो सकता है | थायरोइड रोग महिलाओं में सबसे आम है आमतौर पर इसका निदान 20 से 30 की उम्र में किया जाता है इसलिए अगर आपको thyroid है तो इस समय अनियमित चक्र विकसित हो सकता है |

6.  Endometriosis

endometriosis बाँझपन के सबसे बड़े कारणों में से एक है , ऐसी महिलाये जो endometriosis होती है उन्हें बहुत heavy period होता है और कुछ में बहुत दर्दनाक period होता है जबकि अन्य को दर्द का अनुभव नही होता है यह स्थिति girl के पहले period के बाद विकसित होती है इसलिए इससे पीड़ित लोग सोच सकते हैं कि उनके period normal है | कुछ महिलाओं में endometriosis tissue समय के साथ फ़ैल सकता है जो लक्षणों को बढ़ा सकता है , और सामान्य अवधि की तुलना में अधिक दर्दनाक हो सकता है |

7. अधिक व्यायाम ( over exercising)

सामान्य से अधिक व्यायाम irregular menstruation का कारण बन सकता है एक अध्ययन से पता चलता है कि अधिक व्यायाम करने से शरीर के hormone प्रभावित हो सकते हैं और उन्हें संतुलन से दूर रख सकते हैं |

8.श्रोणी सूजन रोग ( pelvic inflammatory disease )

PID प्रजनन अंगो का एक संक्रमण है ये आमतौर पर क्लेमिडिया और गोनेरिया के कारण होता है जो undetected और untreated होने के कारण body में travel कर सकते हैं | स्त्रीरोग  सम्बन्धी समस्याएं जैसे pregnancy, miscarriage और abortion होने से संभावित रूप से बैक्टीरिया प्रजनन अंगो तक पहुच सकते हैं इस संक्रमण से पेट दर्द, दस्त, मतली और irregular menstruation की समस्या हो सकती है अगर आपका मासिक धर्म बंद है और आप इनमे से किसी समस्या से परेशान हैं तो आप एक बार जांच जरुर कराएं |

9. ख़राब आहार ( poor diet )

ख़राब आहार भी irregular menstruation का कारण हो सकता है  | इसलिए यह सुनिश्चित करें कि आप पोषक तत्वों से भरपूर आहार ले रहे हैं या नही |अपने आहार में एंटीऑक्सीडेंट खाद्य पदार्थ शामिल करें | विशेष रूप से वसा और प्रोटीन | इसके अलावा अगर आपका वज़न कम है तो high calorie supplement को शामिल करें |

10. खाद्य एलर्जी और सवेदनशीलता ( Food allergies and sensitivity)

ग्लुकन संवेदनशीलता और celiac रोग hormone के level को प्रभावित कर सकते हैं | क्योंकि ऐसी स्थितियां पोषक तत्वों की कमी का कारण बन सकती है और आपकी health को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती हैं साथ ही एड्रेनल gland पर तनाव डाल  सकती हैं जिससे irregular menstruation की समस्या हो सकती है |

हॉर्मोन को संतुलित कैसे करें और और मासिक धर्म नियमित करें ?

जैसा की आप जानते हैं कि एक महिला का आहार, तनाव का स्तर , परिवार, पर्यावरण और अन्य कारक उसके जीवन की गुणवत्ता में योगदान देते हैं इसलिए उस महिला का होर्मोन स्तर भी बदलने लगता है इसलिए प्रत्येक महिला के लिए यह ध्यान  देना ज़रूरी है कि उनके जीवन शैली का प्रत्येक तत्व उनके स्वास्थ को कैसे प्रभावित करता है ? इसलिए irregular mentruation के कारण health में होने वाले बदलाव को नज़रअंदाज नही करना चाहिए |

एक अध्ययन के मुताबिक अगर आप अपना period miss कर रहे हैं तो इसकी जांच के लिए डॉक्टर से परामर्श लें |

बहुत से expert आपके period को regular करने के लिए इन three tier treatment strategy की सलाह देते हैं –

  • सबसे पहले अपनी lifestyle बदले , उचित आहार लें और तनाव को कम करें
  • अगर आपको hormonal pill की आवश्यकता हो तो health care provider की सलाह पर ही इस पर विचार करें |
  • extra support की आवश्यकता होने पर ही जड़ी-बूटी और उपचार का प्रयोग करें |

lifestyle change करने के लिए निम्न परिवर्तन शामिल करें –

  • तनाव दूर करें
  • आहार improve करें
  • आवश्यकतानुसार व्यायाम करें
  • पर्यावरण विषाक्त पदार्थों को साफ़ करें

अगर आपको यह article पसंद आये तो इसे शेयर करना न भूलें |

4 thoughts on “What cause of Irregular Menstruation and solution in Hindi?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *