Manu Bhaker Biography in Hindi / मनु भाकर की जीवनी

मनु भाकर भारतीय महिला शूटर खिलाडी हैं जिन्होंने हाल ही में ISSF World Cup जिसका आयोजन Mexico के Guadalajara में हुआ है, में 10m air pistol में gold medal जीतकर भारत को गौरान्वित किया है | और भारतीय इतिहास में अपना नाम दर्ज करा लिया है | मनु भाकर भारत की सबसे youngest shooter हैं और शायद world में तीसरे नंबर की youngest shooter हैं जिन्होंने world cup में gold medal जीता है |


read also :

मनु भाकर का जीवन परिचय ( Manu Bhaker Biography )

पूरा नाम – मनु भाकर
उम्र  – 16 वर्ष
जन्म स्थान – झज्जर ( हरियाणा )
माता- सुमेधा भाकर ( शिक्षक)

पिता – रामकिशन  भाकर ( मर्चेंट नेवी इंजिनियर )

मनु भाकर की शिक्षा ( Manu Bhaker Education )

मनु भाकर  झज्जर के गुरिया गाँव के senior secondary school में 11वी medical stream की छात्रा है | और वे डॉक्टर बनना चाहती हैं | मनु भाकर अपने talent के साथ एक दिन डॉक्टर बनने  का भी सपना पूरा करेंगी |

मनु भाकर का करियर ( Manu bhaker Career)

मनु भाकर ने अपने शूटिंग कैरियर की शुरुआत महज़ दो साल पहले की थी और इन दो सालों में गोल्ड पदक जीतकर भारत और हम सबको गौरान्वित किया है | मनु बचपन से खेल की शौक़ीन थी | वे  सबसे पहले खेल जगत में कदम बॉक्सिंग से रखी , उस समय उनकी उम्र 6 साल की थी | बॉक्सिंग में आँख में चोट लगने की वजह से माँ ने बॉक्सिंग करने से मना कर दिया था जिस वजह से मनु को बॉक्सिंग छोड़ना पड़ा लेकिन खेल के प्रति जज्बा होने की वजह से खेल से नाता नही तोड़ा | और  फिर इसके बाद इन्होने क्रिकेट, कबड्डी,  स्केटिंग और कराटे  भी  खेला |  स्केटिंग के बाद उनका interest swimming में बढ़ा | फिर swimming के कुछ दिन बाद लॉन टेनिस खेलना शुरू किया |


लेकिन एक दिन मनु अपने पिता के साथ shooting range में घूम रही थी तभी अचानक उनके पिता ने उनसे शूटिंग करने के लिए कहा और मनु भाकर ने पहली बार में ही बहुत अच्छा शूट किया | और तभी से मनु भाकर का शूटिंग में interest बढ़ा और स्कूल में ही shooting की ट्रेनिंग ली फिर उसके बाद national coach यशपाल राणा ने मनु भाकर को shooting की training दी |

मनु भाकर ने 2016 में अपने स्कूल में शूटिंग की शुरुआत की | झज्जर के गोरिया गाँव के senior secondary school में ही केवल शूटिंग रेंज है और यह मनु भाकर के घर से 25 km दूर स्थित है जहां 5 घंटे daily ट्रेनिंग दी जाती है | अब आप अनुमान लगा सकते हैं कि मनु भाकर ने इतने कम समय में कितनी मेहनत  की है और आज national champion बन गई है |

मनु भाकर की उपलब्धियां ( Manu Bhaker Achievement)

 

  • Manu Bhaker स्केटिंग में state level champion रह चुकी हैं |
  • athletics में भी medal जीती  हैं
  • कराटे में national medal जीत चुकी हैं
  • TangTta national gold medal जीत चुकी है
  • दिल्ली में आयोजित सैयद वाजिद अली प्रतियोगिता में gold medal जीत चुकी हैं
  • मनु भाकर को record तोड़ने के लिए जाना जाता है December 2017 में तिरुवंतपुरम में आयोजित national shooting competition में मनु भाकर ने Heena सिद्धू का record तोड़कर 10m air pistol प्रतियोगिता जीता था | इस टूर्नामेंट में कुल १५ पदक जीती थी जिसमे 9 पदक gold था |
  • ISSF World Cup में में पहला gold medal जीती है |

माता-पिता का समर्थन ( Parent Support)


बच्चों की कामयाबी में सबसे बड़ा हाथ उनके माता-पिता का होता है | मनु भाकर के पिता का कहना है कि मनु वही करती है जो वो चाहती है उसकी चाहत, उसकी मेहनत और लगन ही उसे कामयाब करने में मदद करती है | मनु भाकर को कभी भी पढाई के लिए force नही किया जाता था क्योंकि वो खुद अपने स्कूल का काम समय पूरा कर लेती थी | समय की कीमत को मनु भाकर बहुत अच्छे से समझती थी इसलिए वो इतने कम उम्र में कामयाब हो गई | और आगे भी अपनी लगन और मेहनत से कामयाब होंगी |
मनु भाकर India की हर एक girl और women के लिए inspiration बनकर उभरी है कि कैसे कम समय में भी आप कामयाब हो सकती है बस आपके अंदर कुछ करने के लिए लगन , चाहत, मेहनत और जज्बा होना चाहिए |
Note: अगर Manu Bhaker से सम्बंधित कोई भी जानकारी आपके पास हो तो ज़रूर शेयर करें और इस आर्टिकल में कोई भी गलती हो तो comment के माध्यम से ज़रूर बताये | जिससे इस article को समय समय पर update किया जा सके |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *