10 negative effect of stress on body in hindi

 

10 negative effect of stress on body

Effect of Stress – stress आपके सामान्य जीवन में एक हिस्से के रूप में जाना जाता है अगर आप stress को सकारात्मक रूप से लेते हैं  तो ये कभी-कभी आपके लिए अच्छा होता है क्योंकि इस condition में आपका शरीर , mental, physical और emotional प्रतिक्रियाओं के साथ react कर सकता है | यह आपकी energy को बनाये रख सकता है और आपके performance को improve कर सकता है | लेकिन अगर आप stress को नकारात्मक रूप में लेते हैं तो यह आपके लिए negative effect पैदा कर सकता है |

अधिकांशतः stress को हम negative रूप में लेते हैं इसलिए इसका हमें बहुत नुकसान भुगतना पड़ता है क्योंकि stress हमारी body पर negative effect लाता है | आज इस article में हम जानेगें कि stress से आपकी body पर किस प्रकार negative effect दिखाई देता है –

शरीर पर तनाव का प्रभाव (Effect of stress on body)

1. पाचन क्रिया कमजोर होना 

शरीर में stress से दिखाई देने वाला negative effect में से एक पाचन का कमजोर होना है | जब आप stress में होते हैं तो शरीर के हॉर्मोन में बदलाव, सांस का तेज़ चलना , heart rate increase होना ये तीन factor आपके digestion को प्रभावित करते हैं | और gastrointestinal track पर chronic inflammation होता है जिससे अपच, पेट दर्द. मतली और उल्टी जैसी समस्या पैदा होती है |

2. प्रतिरक्षा तंत्र कमजोर होना 

क्या आप जानते हैं कि chronic stress immune system को कमजोर करने का कारण होता है | जब आप stress में होते हैं तब आपके body में cortisol का लेवल बढ़ जाता है जिससे immune system प्रतिक्रियाओं में परिवर्तन होने लगता है | तनाव आपके immune system को stimulate भी करता है और यह stimulation आपको infection से बचाने और घावों को भरने में मदद कर सकता है | लेकिन समय के साथ stress आपके immune system को भी कमजोर करने लगते हैं  | जिससे आपके body नकारात्मक रूप से प्रभावित होने लगती है | जिसे कारण आपको बाहरी संक्रमण फ्लू, और सर्दी के उच्च जोखिम की समस्या हो सकती है | इसके साथ ही diabetes और heart disease जैसी गंभीर समस्या की सम्भावना हो सकती है |

3. याददाश्त कमजोर होना 

तनाव hippocampus को  गंभीर रूप से प्रभावित करता है hippocampus brain का एक हिस्सा होता हैं जहाँ आपकी memories store होती हैं | जब आप stress लेते हैं तो यह क्षेत्र सिकुड़ने लगते हैं जिससे किसी भी घटना, तथ्य या लम्बे समय के अंतराल को याद रखना मुश्किल होता है | और इसके साथ ही नई यादें बनाना मुश्किल होता है |

4. उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को उत्तेजित करना 

तनाव समय से पहले उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को उत्तेजित करता है यह आपके स्वास्थ के साथ-साथ आपके skin पर भी बुरा असर डालता है विशेषज्ञों का मानना है जब आप तनाव में हो तो ऐसे face न बनाये जो skin aging का कारण बन जाये | तनाव से आपके skin पर , uneven skin tone, wrinkles, pigmantation जैसे लक्षण  दिखाई देने लगते हैं |
 

 

5. वज़न बढ़ना 

जब आप stress में होते हैं तो आपका शरीर कार्टिसोल हॉर्मोन release करता है जिससे आपको high fat food और sugar की चाह बढ़ जाती है | जिससे आपके शरीर में fat और fat cell size बढ़ने लगता है | लगातार तनाव में रहना थकान का कारण भी बन सकता है | एक research में पाया गया है कि जिन लड़कियों को कम उम्र में वित्तीय तनाव या परिवार के तनाव का सामना करना पड़ता है उनमे मोटापे की सम्भावना ज्यादा होती है |
 

6. बालों का गिरना 

जब शरीर में stress के side effect की बात हो रही हो तब आप इसके side effect में से एक hair fall को miss नही कर सकते हैं | क्योंकि तनाव से आपके बालों में भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है | ये बालों की cycling activity पर negative effect डाल सकता है | एक अध्ययन में उल्लेख किया गया है कि महिला और पुरुष दोनों में बालों के झड़ने का प्राथमिक कारण तनाव होता है | अगर यह स्थिति लगातार बढ़ रही है तो आपको उपचार की आवश्यकता होगी | 
 


7. अस्थमा अटैक होना 

तनाव के कई कारणों में से एक कारण  अस्थमा अटैक भी है | तनाव उन लोगों के लिए उपयोगी नही है जो सांस की बीमारी या अस्थमा से पीड़ित हैं | क्योंकि वास्तव में यह कारण अस्थमा अटैक बन सकता है | तनाव आपके lungs के बीच airway बना सकता है जिससे आपकी नाक संकुचित हो सकती है | यह जानना आपके लिए ज़रूरी है कि तनाव आपको signal नही देगा कि आप अस्थमा से पीड़ित हैं | 
 
जब आप तनाव लेते हैं तो आपकी सांस तेज और कठिन होने लगती है अस्थमा पीड़ित लोगो के लिए यह गंभीर हो सकता है क्योंकि आसानी से सांस लेने के लिए पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन लेना उनके लिए मुश्किल हो सकता है | इसलिए अगर आप अस्थमा से पीड़ित हैं तो तनाव को कम करने की कोशिश करें और अपने चिकित्सक से परामर्श लें |

8. नींद को प्रभावित करना 

जब आप तनाव में होते हैं तो सबसे पहले तनाव आपकी नींद को प्रभावित करता है यह आपके नींद की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव दाल सकता है | जिससे सोने में आपको परेशानी हो सकती है | आप यह जानते हैं कि अच्छे स्वास्थ के लिए पर्याप्त रूप से नींद लेना बहुत ज़रूरी है | नींद से आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है | नींद न होने के कारण आप कई बिमारियों से ग्रसित हो सकते हैं | इसलिए जब भी आप तनाव महसूस करें तब आप तनाव को दूर करने के लिए संगीत सुने , किताबे पढ़ें और गहरी सांस लेने का अभ्यास करें | इसके बाद भी आप पर्याप्त रूप से नींद नही ले प् रहे हैं तो तुरंत अपने चिकित्सक से सलाह लें | 
 


9. हार्ट समस्या होना 

शरीर पर तनाव के negative effect के कारणों में से एक कारण अपने दिल को चोट पंहुचाना भी है | अगर आप लम्बे समय तक तनाव महसूस कर रहे हैं तो आपके heart के लिए समस्या पैदा कर सकता है जिससे आपको सीने में दर्द, उच्च रक्तचाप, और अनियमित दिल की धड़कन जैसे दिल की बीमारी का खतरा बढ़ सकता है | 
 
तनाव के दौरान शरीर हॉर्मोन release करता है जो heart की muscles को नुकसान पंहुचा सकते हैं | और इसका परिणाम यह होगा कि heart rate increase होगा और blood vessels block होने लगेंगी जिससे high blood pressure की समस्या होगी | लम्बे समय तक high blood pressure होने से heart attack या stroke की सम्भावना बढ़ सकती है | 
 
तनाव आपके circulatory system को भी प्रभावित करता है | जिससे heart attack का जोखिम बढ़ जाता है | इसके आलावा तनाव को कम करने के लिए आप क्या कर रहे हैं अगर आप बुरी आदतों को शामिल कर रहे हैं जैसे smoking, alcohol लेना , exercise न करना और ज्यादा खाना खाना | तब आप अपने स्वास्थ पर और बुरा असर डाल रहे हैं | इससे आपकी स्थिति और बुरी हो सकती है | 

10. सिर दर्द होना 

सर दर्द भी तनाव से शरीर में नकारात्मक प्रभाव में से एक है अगर आप लगातार तनाव से पीड़ित हैं तो आपको migraine की समस्या भी हो सकती है | यह स्थिति तनाव के दौरान cortisol और adrenalin जैसे हॉर्मोन के release होने के कारण होता है | इसके साथ ही मांसपेशियों में तनाव बढ़ जाता है जो अधिक दर्दनाक महसूस हो सकता है | जब आपको तनाव से सिर दर्द होता है तब आप आँखों के पीछे और सिर के साथ ही आपके गर्दन की मांसपेशियों में कसाव महसूस कर सकते है | 
 
आप तनाव से रोज़ बच तो नही सकते हैं लेकिन अपने mind को control कर तनाव को रोक सकते हैं | अगर आपको ये effect of stress से सम्बंधित ये article पसंद आये तो इसे social network में ज़रूर शेयर करें | 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *