How To Stop Looking For Happiness In Others And Keep Yourself Happy In Hindi


How To Stop Looking For Happiness In Others And Keep Yourself Happy In Hindi

बहुत से लोग जब relationship में enter करते हैं , तो वे यही सोचते हैं की अब उनकी लाइफ से सभी प्रॉब्लम दूर हो जाएगी और उनकी लाइफ में खुशियाँ आएँगी | हालाकि relationship एक खुशनुमा एहसास होता है, लेकिन प्रॉब्लम तब होती है, जब हम relationship में होते हए अपनी खुशियाँ दूसरों में ढूंढने लगते हैं | क्या आपको लगता है की आप जिस person  के साथ relationship में हो , अपनी खुशियाँ ढूंढने के लिये उस पर depend हो | अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मै कहूँगी -Yes. Happiness पाने के लिए आप उस person पर depend हो जिसके साथ relationship में हो |

Read also:


जब वह आपको हँसाए तो आप हंसो , जब वह रुलाये तो आप रोने लगो | इसका मतलब यही है कि आप happiness पाने  के लिए उस person पर पूरी तरह depend हो | लेकिन आपको इस बात का ख्याल होना चाहिए की सच्ची ख़ुशी दूसरों में नही मिल सकती इसके लिए आपको खुद में ख़ुशी ढूँढना होगा | हम women की यही सबसे बड़ी प्रॉब्लम होती है कि हम अपनी ख़ुशी दूसरों में ढूंढने लगते हैं और शायद इसलिए हम उतने खुश नही रह पाते | क्योंकि हम बहुत ज्यादा emotional होते हैं | लेकिन खुद में ख़ुशी ढूंढने के लिए हमे mentally strong होना बहुत ज़रूरी है |

Read also:

खुद में ख़ुशी ढूँढना और अपने रिश्ते को सहेज कर रखने के लिए यहाँ कुछ टिप्स दिए गए हैं मुझे उम्मीद है की आपको ज़रूर पसंद आयेंगे |

1. खुद का test लें 

सबसे पहले आप खुद का यह test लें कि क्या आप emotionally dependent हैं | खुद से यह सवाल करें कि क्या आप अपनी ख़ुशी के लिए एक partner की तलाश कर रहे हैं या कर रहे थे? क्या आप परेशान हो जाते हैं जब आपका partner आपका किसी काम में साथ न दे? , क्या आप ख़ुशी पाने के लिए हमेशा दूसरों से शिकायत करते रहते हैं? 
अगर आपने इन question में किसी का भी answer दिया है तो आपके लिए यह एक संकेत है कि आप अपनी ख़ुशी पाने के लिए अपने रिश्ते पर निर्भर हैं | इसका मतलब यह नही है कि you are bad person. लेकिन यह sign हो सकता है कि आपको खुद में बदलाव लाने की ज़रूरत है | आप अपने से जुड़े हुए रिश्ते में उनके सुख-दुःख में साथ दीजिये उन्हें अपना समझिये लेकिन अपनी ख़ुशी पाने के लिए उनपर depend मत हो जाइये | 

2. खुद के साथ comfortable हों 

कुछ देर के लिए शांत बैठे और अपने thoughts को सुने अगर आप खुद से प्यार नही कर सकते हैं तो आप दूसरों से भी प्यार नही कर सकते हैं | यह सच है कि अगर आप खुद के लिए insecure हैं तो आप दूसरों से कुछ एक्स्पेक्ट नही कर सकते | इससे आपको फर्क नही पड़ना चाहिए कि आपके partner, आपके family और friends ने बताया हो कि आप कितने special और amazing person हैं | आपकी सोच को बदलने वाला एकमात्र person सिर्फ आप हैं | 

3. ख़ुशी खुद में ढूंढे न कि अपने आसपास 

हमें अक्सर उन चीज़ों में ख़ुशी ढूढ़ते हैं जो हमारे आसपास होती है लेकिन हमें इस बात को महसूस करना है कि लोगो का काम हमें खुश करने के लिए नही है हमें ख़ुशी खुद के अन्दर ढूँढना होगा |

4. शिकायत कम करें 

लोगो से शिकायत करना बंद करें | खुद को नेगेटिव पर focus करने के बजाय खुद को positive बनाने के लिए focus करें | जब आप positive सोचने लगेंगे तो शिकायत भी कम करने लगेंगे | 

5. Creative बने और अपनी क्षमताओं का पता लगायें 

Creative बनिए अपनी क्षमताओं को पहचानिए | अपने लाइफ में कुछ ऐसा करिए जो आपको सबसे अलग बनाता हो | कुछ ऐसा काम करिए जो आपका passion हो जब आप अपने passion का काम करने लगेंगे तो आपको एक special वाली ख़ुशी मिलेगी | यकीन मानिये अपने लिए ख़ुशी सिर्फ आप create कर सकते हैं और कोई दूसरा नही | 

6. अपनी resposnsibility accept करें 

Last में मै यही कहना चाहूंगी कि अपनी ख़ुशी (happiness) के लिए खुद responsible बने | अपने लाइफ में आगे बढ़ें,  चाहे आप किसी भी situation में रहे, उसका आनंद लें , आपके पास जो है उसमे खुशियाँ ढूंढे |  

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*