metabolism क्या है ? metabolism को boost करने के 3 टिप्स
Metabolism-हमारे body में जो calories burn होती है वह metabolism कहलाती है | जब हम भोजन ग्रहण करते हैं तब चयापचय की  process भोजन को energy में बदलता है और हमारे body को सभी काम के लिए इस energy की आवश्यकता होती है | चयापचय  process 24 घंटे चलती रहती है जब हम कुछ भी नही करते है केवल सो रहे होते हैं तब भी हमारी body में  कुछ न कुछ function चलते रहते हैं, और सोने के टाइम में भी 1500 के आसपास कैलोरी burn होती है | लेकिन जब हमारी body और काम करती है तब हमें और energy की ज़रूरत होती है| सरल शब्दों में हम कह सकते हैं कि हम जितना काम करेंगे हमें उतनी energy कि ज़रूरत होगी और हमारे body का metabolic रेट उतना high होगा |

Metabolism संतुलन के फायदे 

 

चयापचय  का सही संतुलन होना बहुत ज़रूरी है अगर यह process रुक जाती  है तो बॉडी की process भी रुक जाएगी मुख्यतः यह  दो प्रकार के होते हैं
  • slow metabolism and
  • high metabolism |

Slow metabolism

  चयापचय  की  process slow होने पर body सुस्त हो जाती है इसके साथ ही तनाव , नींद की  कमी , depression ये सभी slow metabolism की  वजह से होते  हैं, slow metabolism से हार्मोन्स भी प्रभावित हो सकते हैं  जैसे
  •    थकान लगना 
  •      ऊर्जा की कमी
  •      अनियमित पीरियड 
  •      प्रजनन समस्या 
  •      त्वचा समस्या

High metabolism

 High metabolism में आपूर्ति की  मांग को बढाती है जैसे oxygen और भोजन | high metabolism से body गर्म होने लगती है भूख ज्यादा लगती है और बुखार के लक्षण भी नज़र आते हैं |

चयापचय (Metabolism) बूस्ट करने के 3 tips

कभी-कभी  जब हम अपने आसपास उन लोगो को देखते हैं जो बहुत खाते हैं फिर भी उनका वज़न नही बढ़ता और वे लोग फिट रहते हैं | ऐसे लोग के पास great चयापचय  होता है | अगर हमे अपना चयापचय  बढ़ाना हो, खाया हुआ सामग्री अच्छे से digest हो जाये, cells तक पहुच जाये, अच्छे nutrient generate हों उसके लिए हमे proper workout करना होगा हमें   कम से कम 1 घंटे  workout करना चाहिए| आप प्रत्येक 3 घंटे में कुछ न कुछ ज़रूर खाएं और ज्यादा से ज्यादा पानी पियें  और अपनी activity बढायें|

अपना काम शुरू करने के पहले, उसके बीच में और काम ख़तम करने के बाद  इन  तीन चीजों को रूटीन में शामिल करने से चयापचय  दुरुस्त होगा

 

Morning के समय 

Breakfast नियमित रूप से करने से metabolism सही रहता है जिससे वजन नियंत्रित रखने में मदद मिलती है जो महिलाये भरपेट नाश्ता करती हैं तो वह दिनभर में कम कैलोरी लेती हैं एक study के मुताबिक़ breakfast weight management का एक 
important टूल है| breakfast में आप कार्बोहाइड्रेट साथ protein और healthy fats ले सकते हैं जो एक powerful breakfast होता है|

Read also:

What is Protein? And why is it necessary for our body?

 

Lunch के समय

Lunch में काम के दौरान चाय या काफी की जगह ग्रीन टी पी सकते हैंइसमें मौजूद पोलिफिनोल्स चयापचय  को बूस्ट करते हैं
 
Dinner के समय 
 
काम खत्म  करने के बाद high intensity workout करने से चयापचय  workout के 3 घंटे बाद तक बेहतर काम करता है |
 
अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो please इस पोस्ट को social networks जैसे Facebook, Google, Twitter पर ज़रूर share कीजिये|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *